विशेष कार्याधिकारी (भोज एवं सत्यापन)

वापस अधिकारियों / कर्मचारियों के कार्य एवं दायित्व पर जाएँ

विशेष कार्याधिकारी (भोज एवं सत्यापन) के कर्तव्य एवं दायित्व
  1. राजकीय भोज/समारोहों से संबंधित निमंत्रण पत्रों को छपवाना एवं वितरित करवाना
  2. भोज एवं जलपान आदि के लिये मीनू निर्धारित करवाना एवं जलपान आदि की व्यवस्था कराना एवं कैटरर्स/तम्बू/कनात/मंच/फर्नीचर/माईक/रोशनी/पण्डाल की सजावट आदि की व्यवस्था कराना और उन्हें देखना।
  3. मंच संचालन हेतु आवश्यकतानुसार आकाशवाणी/दूरदर्शन आदि के कलाकारों, संगीत महाविद्यालय एवं अन्य स्थानों से गायकों तथा कलाकारों की व्यवस्था।
  4. जलपान/भोज/संगीत व्यवस्था से संबंधित बिलों की धनराशि, व्यक्तियों की संख्या एवं मीनू कार्य आदि पर संबंधित विभाग के अनुभाग अधिकारी से उच्च अधिकारी/अधिकृत कार्मिक द्वारा प्रथम सत्यापन करवाना तत्पश्चात स्वयं द्वारा दूसरा सत्यापन करना तथा संयुक्त सचिव/विशेष सचिव के माध्यम से सचिव/प्रमुख सचिव का अनुमोदन प्राप्त कर बिलों को भुगतान हेतु सचिवालय प्रशासन अनुभाग-7(विविध) को उपलब्ध कराना।
  5. राजकीय जलपान/भोज के आयोजन की सूचना प्राप्त होने पर विशेष कार्याधिकारी (भोज एवं सत्यापन ) द्वारा संयुक्त सचिव/विशेष सचिव के माध्यम से पत्रावली प्रमुख सचिव को अनुमोदनार्थ प्रस्तुत की जायेगी, जिसमें भोज में भाग लेने वाले व्यक्तियों की संख्या, मीनू कैटरर्स एवं अनुमोनित व्यय की टेन्डर्ड रेट पर आधारित होगा, आदि का उल्लेख होगा। यदि तात्कालिक आवश्यकता पर उच्च स्तरीय मौखिक आदेशानुसार भोज एवं जलपान की व्यवस्था करायी जाती है एवं लिखित आदेश बाद में प्राप्त होते हैं तो उस व्यवस्था की कार्योत्तर स्वीकृति का प्रस्ताव सचिव/प्रमुख सचिव, सचिवालय प्रशासन विभाग को प्रस्तुत किया जायेगा।
राजकीय भोजो/समारोहों का सत्यापन:-

राजकीय भोजों के अवसर पर मितव्ययिता बरतने के उद्देश्य से सचिवालय प्रशासन विभाग के विशेष कार्याधिकारी (भोज एवं सत्यापन) के उच्चतर अधिकारी द्वारा प्रतिभागियों/अतिथियों की संख्या, मीनू व्यवस्था आदि का यदा-कदा सत्यापन किया जायेगा।

राजकीय उत्सवों (गणतंत्र दिवस एवं गांधी जयन्ती) के आयोजन का स्थानीय सत्यापन तथा निरीक्षण विशेष सचिव, सचिवालय प्रशासनप विभाग की अध्यक्षता में गठित समिति द्वारा किया जायेगा तथा उत्सव के समापन के 01 सप्ताह के अन्दर आख्या सचिव/प्रमुख सचिव, सचिवालय प्रशासन विभाग को प्रस्तुत की जायेगी।