समीक्षा अधिकारी (लेखा)

वापस अधिकारियों / कर्मचारियों के कार्य एवं दायित्व पर जाएँ
लेखाकार के कर्तव्य :-
  1. वेतन, अनुपूरक , मंहगाई भत्ता, यात्रा भत्ता, बोनस जी0पी0एफ0 आदि देयकों को बिल तैयार कर मुख्य कोषाध्यक्ष/कोषाध्यक्ष को प्रस्तुत करना ।
  2. भविष्य निर्वाह निधि के अभिदाताओं के ब्याज की गणना एवं बही खाता में प्रविष्टि करना।
  3. आयकर की गणना करना।
  4. महालेखाकार द्वारा व्यय विवरण का मिलान करना।
  5. सेवा पुस्तिका में प्रविष्टि करना।
  6. भविष्य निर्वाह निधि के लेजर तथा ब्राडशीट का रख-रखाव करना।
  7. अवकाश रिपोर्ट देना।
  8. सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारियों/अधिकारियों की सूची तैयार करना।
  9. मकान किराया वितरण की वसूली बनाना।
  10. भवन निर्माण/मरम्मत/स्कूटर अग्रिम के ब्याज की गणना करना।
  11. समस्त प्रकार के देयकों को अंतिम रूप देना।
  12. वार्षिक वेतनवृद्धि लगाना।
  13. आकस्मिकता निधि का बिल तैयार करना।
  14. मंत्रिपरिषद एवं सचिवालय का वार्षिक आय-व्ययक (बजट) तैयार करना, नई मांगों तथा अनुपूरक मांगों, आकस्मिकता निधि से अग्रिम आहरण आदि का प्रस्ताव तैयार करना।
  15. व्ययाधिक्य एवं बचत का प्रारम्भिक विवरण-पत्र तैयार करना।
  16. पुनर्विनियोजन के प्रस्ताव तैयार करना।
  17. बचतों का अभ्यर्पण करना।
  18. लेखा प्रकोष्ठ/अनुभाग का आडिट कराना तथा आडिट आपत्तियों का उत्तर तैयार कर भेजना।
  19. विभिन्न शीर्षकों के अन्तर्गत व्यय को लेजर में अंकित करना।